Hariyali Teej 2022: क्यों मनाई जाती है हरियाली तीज? जानिए इस बार किस तरह से बन रहा है विशेष संयोग, साथ ही जाने तारीख और मुहूर्त

Spread the love

Hariyali Teej 2022: हरियाली तीज का व्रत अगर कुंवारी लड़कियां रखती हैं तो उन्हें अच्छा पति प्राप्त होता है। इसी के साथ-साथ सुहागन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु और सुखद दांपत्य जीवन के लिए यह व्रत करती हैं। हरियाली तीज (Hariyali Teej) सावन के महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीया को मनाई जाती है।

इस साल हरियाली तीज 31 जुलाई 2022 यानी कि रविवार को मनाई जाने वाली है। हरियाली तीज के दिन पर महिलाएं हाथों पर मेहंदी लगाती हैं और सोलह सिंगार किया करती हैं। इस बार भी और हरियाली तीज पर शुभ संयोग बनता नजर आ रहा है।

यह भी पढ़े:-Vastu Tips: घर में रखा है मनी प्लांट तो बांध दें लाल धागा, फिर देखें चमत्कारिक फायदे

इसी कारण से मनाते हैं हरियाली तीज

पौराणिक कथाओं की मानें तो इसी दिन पर भोलेनाथ और माता पार्वती का पुनर्मिलन हो गया था। यह भी उल्लेख किया जाता है कि भोलेनाथ को अपने पति के रूप में प्राप्त करने के लिए माता पार्वती ने एक सौ सात जन्म ले लिए थे और कठोर तपस्या भी की थी।

इसके बाद में 108 वे जन्म में लंबे इंतजार के बाद में उन्होंने भगवान शंकर को अपने पति के रूप में प्राप्त किया था। मान्यता तो यह भी है कि अगर इस दिन में लड़कियां व्रत रखती हैं तो उन्हें मनपसंद लड़का मिलता है।साथ ही सुहागन है यह व्रत करती हैं तो उन्हें अखंड सौभाग्य प्राप्त होता है।

यह भी पढ़े:-Jyotish Tips: इस वक्त सोने पर मां लक्ष्मी हो सकती है रुष्ट,जीवन में आ जाएगा घोर अंधकार

Hariyali Teej पर बन रहा है रवि योग

हरियाली तीज (Hariyali Teej) पर इस साल एक बहुत ही शुभ योग बनता नजर आ रहा है जोकि है रवि योग। इसे पूजा-पाठ और धर्म-कर्म के लिए बहुत ही शुभ बताया जाता है। इसे साथ ही साथ रवि योग्य में किए जाने वाले शुभ कार्य फल दिया करते हैं। 31 जुलाई की दोपहर 2:20 मिनट से लेकर 1 अगस्त की सुबह 6:04 मिनट तक रवि योग बना रहेगा। हरियाली तीज के दिन पर माता पार्वती और शिव जी की पूजा करने के साथ-साथ मां पार्वती को शृंगार किसी से अर्पित किया करते हैं।

 

Leave a Comment