मोबाइल को खतरा,आपके स्मार्टफोन में मौजूद ये Anti Virus Apps चुरा रहे आपका सारा डाटा, रिपोर्ट में दावा जल्दी पढ़े

नई दिल्ली: Google Play Store पर एंटी-मैलवेयर सॉफ्टवेयर के रूप में 6 ऐप्स ने लगभग 15,000 Android यूजर्स का संवेदनशील डेटा चुरा लिया। Google द्वारा उल्लंघन को पहचानने के बाद, उसने Play Store से ऐप्स को स्थायी रूप से हटा दिया है। चेक प्वाइंट रिसर्च की एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है। तीन शोधकर्ताओं ने पाया कि हैकर्स ने एंटी वायरस एप्लिकेशन की आड़ में शार्कबॉट एंड्रॉइड स्टीलर सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया, जिससे वो यूजर्स के पासवर्ड, बैंक डिटेल्स और अन्य व्यक्तिगत जानकारी चुरा रहे थे। प्ले स्टोर पर सभी ऐप्स को 15,000 से अधिक बार डाउनलोड किया गया है

रिपोर्ट में दावा:

चेक प्वाइंट रिपोर्ट के अनुसार, ‘यह मैलवेयर एक जियोफेंसिंग फीचर और चोरी की तकनीक को लागू करता है, जो इसे बाकी मालवेयर से अलग बनाता है। यह Domain Generation Algorithm (DGA) नामक किसी चीज का भी उपयोग करता है, जो कि एंड्रॉइड मैलवेयर की दुनिया में शायद ही कभी इस्तेमाल किया गया हो।’

Google Play Store वाले इन ऐप्स ने चुराया डाटा:

एंटी वायरस के रूप में छह मैलवेयर ऐप्स ने 15,000 से अधिक यूजर्स को शार्कबॉट एंड्रॉइड मैलवेयर से इंफेक्टेड किया, जो क्रेडेंशियल और बैंकिंग जानकारी चुराता है। शोध के दौरान, एंफेक्टेड डिवाइस के लगभग 1,000 आईपी पते खोजे गए। पीड़ितों में से अधिकांश इटली और यूनाइटेड किंगडम से थे।

ये भी पढ़ें-खुसखबरी! ऑफर्स में iPhone की कीमत हुई कम, 30 हजार से भी कम में खरीदें iPhone का यह 5G फोन

स्मार्टफोन Anti Virus Apps:

इन 6 ऐप्स को Google Play Store से हटाया गया
ये वो छह ऐप हैं जो दूषित पाए गए और बाद में Google Play Store से हटा दिए गए। रिपोर्ट में कहा गया है, “शार्कबॉट हर संभावित शिकार को टारगेट नहीं करता है, लेकिन चीन, भारत, रोमानिया, रूस, यूक्रेन या बेलारूस के यूजर्स की पहचान करने और उन्हें अनदेखा करने के लिए जियो-फेंसिंग सुविधा का उपयोग करके केवल चुनिंदा लोगों को टारगेट करता है।” ऐप इंस्टॉल करते ही क्रेडेंशियल एंट्री फॉर्म में लोगों से जरूरी चीजें भरवाई जाती हैं। जैसे ही यूजर्स क्रेडेंशियल्स इनपुट करते हैं, तो डेटा हैकर्स तक ट्रांसफर हो जाता है।

Source: Zee News

Leave a Comment