World Hindi Day: आज पूरा विश्व हिंदी दिवस मना रहा है, तो जानते है क्या है विश्व हिंदी दिवस का इतिहास

World Hindi Day: आपको बता दे की आज कल के युवा पीढ़ी अंग्रेजी को बहुत ज्यादा और हिंदी भाषा को कम महत्व देती है। वही हिंदी की अनदेखी को रोकने और विश्‍व स्‍तर पर इसके व्‍यापक प्रचार के लिए हर साल 10 जनवरी को विश्‍व हिंदी दिवस (World Hindi Day) का आयोजन किया जाता है। क्योंकि विश्‍व में अंग्रेजी, मंदारिन और स्‍पेनिश के बाद हिंदी सबसे ज्‍यादा बोली जाने वाली भाषा है। यह भारत के अलावा कई अन्‍य देशों में भी व्‍यापक रूप से बोली जाती है। आपको जान के हैरानी होगी की एक अनुमान के मुताबिक करीब 65 करोड़ लोग किसी न किसी माध्‍यम से अपने दैनिक जीवन में इस भाषा का उपयोग करते ही हैं।

जानें, विश्‍व हिंदी दिवस का इतिहास और इसके उद्देश्‍य

दरअसल विश्व हिंदी दिवस (World Hindi Day) 1975 में आयोजित पहले विश्व हिंदी सम्मेलन की वर्षगांठ को चिह्नित करने के लिए प्रतिवर्ष 10 जनवरी को मनाया जाता है। इससे पहले विश्व हिंदी सम्मेलन का उद्घाटन तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने किया था। वही 1975 से विभिन्न देशों जैसे संयुक्त राज्य अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम, मॉरीशस, त्रिनिदाद और टोबैगो ने विश्व हिंदी सम्मेलन का आयोजन किया। वहीं 10 जनवरी 2006 को पहली बार पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह द्वारा विश्व हिंदी दिवस मनाया गया था।

यह भी पढ़ें-Omicron Guidelines: ऑमिक्रोन से बचना हैं, तो कीजिए इन गाइडलाइन का पालन

और उसके बाद वैश्विक भाषा के रूप में प्रचारित करने के लिए हर साल 10 जनवरी को विशेष दिवस (World Hindi Day) के रूप में मनाया जाता है। इसका उद्देश्‍य विश्व में हिंदी के प्रचार-प्रसार के लिये लोगों के प्रति जागरूकता पैदा करना और हिन्दी को अन्तराष्ट्रीय भाषा के रूप में पेश करना है। इस दिन विदेशों में भारत के दूतावास विशेष कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं। तो वही सभी सरकारी कार्यालयों में विभिन्न विषयों पर हिन्दी में व्याख्यान आयोजित किये जाते हैं।

आखिर क्यों (World Hindi Day) से विश्‍व हिंदी दिवस अलग, जानिए इसके इतिहास

दरअसल हिंदी वैदिक संस्कृत के प्रारंभिक रूप की प्रत्यक्ष वंशज भी है। जिससे प्रतिवर्ष 14 सितंबर को हिंदी दिवस (World Hindi Day) मनाया जाता है। इसकी शुरुआत 14 सितंबर 1949 को तब हुई थी। जब भारत की संविधान सभा ने हिंदी को भारत की अधिकारिक भाषा और राज्‍य भाषा के तौर पर अपनाया था और वहीं 1953 में राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा के अनुरोध पर 14 सितंबर के बाद हर साल हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाने लगा।

यह भी पढ़ें –Facebook twitter wp Email affiliates DSSSB: दिल्ली सरकार के विभागों और निगमों 878 पदों के लिए आवेदन शुरू, dsssbonline.nic.in पर करें अप्लाई

वही इसका उद्देश्‍य हिंदी को आधिकारिक भाषा के रूप में घोषित करता है। 10 जनवरी को मनाया जाने वाला विश्व हिंदी दिवस। हिंदी भाषा पर एक शब्द सम्मेलन है। जिसका उद्देश्य विश्व में हिन्दी के प्रचार-प्रसार के लिये जागरूकता पैदा करना हैं। हिन्दी को अन्तराष्ट्रीय भाषा के रूप में पेश करना, हिन्दी के लिए विश्‍व में वातावरण निर्मित करना और अनुराग पैदा करना। हिन्दी की दशा के लिए जागरूकता पैदा करना और हिन्दी को विश्व भाषा के रूप में प्रस्तुत करना है।

Leave a Comment