Ration Card वालों के लिए बुरी खबर, लिस्ट से कट सकता है आपका भी नाम, ध्यान से पढ़ें इस जानकारी को

Spread the love

आए दिन राशन कार्ड (Ration Card) को लेकर के सरकार के नियम सख्त होते चले जा रहें हैं , और इन्हीं नियमों का पालन करते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने राशन कार्डों का निरस्तीकरण भी शुरू कर दिया है।आपको बता दें कि इन नियमों के अनुसार अगर आप राशन कार्ड के पात्र नहीं पाए जाते तो आपका राशन कार्ड रद्द कर दिया जाएगा।

सभी अपात्रों का कटेगा नाम

सभी अपात्रों की जानकारी निकालने के लिए सरकार ने इसकी जांच भी शुरू कर दी है।आपको बता दें कि साल 2011 की जनगणना के अनुसार सरकार का राशन कार्ड बनाने का लक्ष्य पूरा हो चुका है , और अब राशन कार्ड नहीं बनाए जा सकते।ऐसे में सरकार अब केवल जरूरतमंदों को ही राशन कार्ड उपलब्ध कराएगी , और इसीलिए जितने भी अपात्र इसका फायदा उठा रहें उनका नाम काट दिया जायेगा।

Ration Card- क्या होंगे नाम जोड़ने के क्राइटेरिया ?

आपको बता दे कि हालांकि अब सरकार किसी के भी नए कार्ड (Ration Card) का आवेदन नहीं ले रही है , और इसीलिए पुराने कार्डों की जांच चल रहीं है और अपात्र पाए जाने पर वो कार्ड निरस्त किए जा रहें है। यानि की अभी भी राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा में वर्ष 2011 की जनसंख्या अनुपात के आधार पर ही नाम जोड़े जा रहें हैं , और इसी के लिए सरकार स्पेस बना रही है।आपको बता दें कि कई शहरों की जनसंख्या भी 2011 की तुलना में ज्यादा बढ़ गई है।

2021 में भी नहीं हो पाई जनगणना

कोरोना महामारी के चलते 2021 में जनगणना नहीं हो पाई, और इसीलिए राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा के लिए जनसंख्या अनुपात बढ़ाना और भी ज्यादा जरूरी है। जिससे शहरों में रहने वाले गरीबों को भी फायदा है।इसके तहत प्रदेश के जिला पूर्ति कार्यालय और तहसील स्‍तर के पूर्ति कार्यालय में आने वाले नए राशन कार्ड (Ration Card) के आवेदनों को जमा कर लिया जाएगा। उसके बाद जांच के आधार पर अपात्रों के राशन कार्ड न‍िरस्‍त कर उनकी जगह पात्रों के राशन कार्ड बनाए जायेंगे।

यह भी पढ़े:-Rakshabandhan: डिजाइनर राखियों से सजेगी भाइयों की कलाईयां, आसमान छू रहे राखियों के दाम

यह भी पढ़े:-एयरटेल इस महीने से शुरू करेगी 5G सर्विस:कंपनी ने एरिक्सन, नोकिया-सैमसंग से मिलाया हाथ; जियो 15 अगस्त को लॉन्च कर सकता है

Leave a Comment