Ration Card: एक बार फिर से आई राशन कार्ड होल्डर्स के लिए बुरी खबर, कट सकता है आपका भी नाम

Spread the love

Ration Card: आपको बता दें कि यूपी सरकार ने राशन कार्ड रद्द करने के काम को एकदम तेज़ी के साथ शुरू कर दिया है , सरकार की तरफ से आए हुए आदेशों को देखते हुए जल्द ही सारे अपात्र लोगों का नाम राशन कार्ड लिस्ट से काट दिया जायेगा और उनके राशन कार्डों को रद्द कर दिया जाएगा।

नहीं बनाए जा सकते नए राशन कार्ड (Ration Card)

यूपी सरकार ने प्रदेश में लोगों के राशन कार्ड को रद्द करना शुरू कर दिया है। यानि के अब केवल जरूरतमंदों को ही राशन मिलेगा , और जो भी लोग राशन कार्ड के पात्र नहीं पाए जाते हैं उनका नाम लिस्ट से हटाकर राशन कार्ड को निरस्त कर दिया जाएगा।जिसकी शुरुआत यूपी के कई जिलों में हो भी चुकी है , दरअसल साल 2011 की जनगणना के अनुसार अब राशन कार्ड बनाने का लक्ष्य पूरा हो चुका है और अब नए राशन कार्ड नहीं बनाए जा सकते हैं।

2011 से 2022 तक में शहरों की आबादी हुई दोगुनी

आपको बता दें कि जो भी लोग राशन कार्ड के आवेदन के लिए नए हैं , तो उनका राशन कार्ड के लिए पात्र होना जरूरी है अगर वो राशन कार्ड के पात्र नहीं पाए जाते हैं तो राशन कार्ड नहीं बनाए जायेंगे , साथ ही साथ पुराने जितने भी राशनकार्ड होल्डर्स इसके पात्र नहीं हैं उनके भी राशन कार्ड निरस्त किए जायेंगे।राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा में साल 2011 की जनसंख्या अनुपात के आधार पर ही नाम जोड़े जा रहे हैं। आपको बता दें शहर की आबादी 2011 की तुलना में 2022 में दोगुनी हो चुकी है।

कोरोना महामारी के चलते 2021 में नहीं हो पाई थी जनगणना

2021 में बढ़ते कोरोना मामलों के चलते जनगणना नहीं हो पाई थी ,इस स्‍थ‍ित‍ि में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा के ल‍िए जनसंख्या अनुपात को बढ़ाना जरूरी हो गया है. इसी के आधार पर शहरी गरीबों को योजना का लाभ मिल सकेगा। ऐसी अवस्था में प्रदेश के जिला पूर्ति कार्यालय और तहसील स्‍तर के पूर्ति कार्यालय में आने वाले नए राशन कार्ड के आवेदनों को जमा कर लिया जाता है।उसके बाद जांचकर अपात्रों के राशन कार्ड निरस्त कर उनकी जगह नए राशन कार्ड बनाए जाते हैं।विभागीय सूत्रों के अनुसार अभी 2011 केलक्ष्य को अब जनसंख्या वृद्धि के आधार पर बढ़ाने की तैयारी चल रही है। इसल‍िए अभी नए राशन कार्ड बनाने का काम रुका हुआ है।

यह भी पढ़े:-Free Electricity: पंजाब सरकार का जनता के लिए बड़ा तोहफा, मुफ्त में मिलेगी बिजली

यह भी पढ़े:-Facebook twitter wp Rupee in 75 Years: 4 रुपये प्रति डॉलर से 80 तक कैसे पहुंचा भारतीय रुपया? जानिए पिछले 75 सालों का

Leave a Comment