कौन सी आंख फड़कने पर देती है शुभ फल, जानिए आंखों के फड़कने के प्रभाव

कभी आपने भी लोगों को कहते सुना होगा कि सुबह से आंख फड़क रही है कुछ बुरा होने वाला है। लेकिन आंख फड़कना अशुभ भी होता है औऱ शुभ भी होता है। आंख फड़कने को लेकर सामुद्रिक शास्त्र में कई तरह के आकलन किए गए हैं। दरअसल सामुद्रिक शास्त्र में किसी भी व्यक्ति के स्वभाव, गुण के आधार पर शुभ और अशुभ फलों का आकलन किया जाता है।

सबसे पहली बात होती है कि कौन सी आंख फड़कना शुभ माना जाता है औऱ कौन सी आंख फड़कने पर अशुभ होने की आशंका होती है  सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार पुरुषों की दाईं आंख फड़कना शुभ माना जाता है और महिलाओं की बाईं आंख फड़कना शुभ माना जाता है।

दाईं आंख फड़कने का मतलब

अगर किसी पुरुष की दाईं आंख, पलक और भौंह फड़कती हैं तो माना जाता है कि उनके मन की सारी इच्छाई पूरी होगी। इसके साथ-साथ ऐसे संकेत पदोन्नति और धनलाभ कराते हैं।

महिलाओं की दाईं आंख का फड़कना अशुभ माना जाता है। इस संकेत के चलते कलह होती है या बनता हुआ कोई काम बिगड़ सकता है।

बाईं आंख फड़कने का मतलब 

अगर महिलाओं की बाईं आंख, पलक और भौंह फड़के तो इसे शुभ संकेत माना जाता है। माना जाता है कि महिला की बाईं आंख फड़कने पर उसे धन लाभ के साथ साथ बड़े काम बनने के योग बनते हैं।

वहीं अगर किसी पुरुष की बाईं आंख फड़के तो यह बहुत बड़ा अपशगुन माना जाता है। सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार पुरुषों की बाईं आंख फड़कने का अर्थ हैं कि किसी दुश्मन से लड़ाई हो सकती है या फिर दुश्मनी और बढ़ सकती है।

दोनों आंख एक साथ फड़कें तो क्या है मतलब

यदि दोनों आंख एक साथ फड़कने लगें तो इसका मतलब होता है कि व्यक्ति की किसी पुराने दोस्‍त या रिश्तेदार से मुलाकात होने वाली है। दोनों आंख फड़कने का संकेत महिला और पुरुष दोनों के लिए एक समान फल देता है।

Leave a Comment