Friday, July 1, 2022
Homeलाइफस्टाइलआप भी त्वचा को बनाना चाहते हैं खूबसूरत, जानिए ग्लूटाथिओन के बारे...

आप भी त्वचा को बनाना चाहते हैं खूबसूरत, जानिए ग्लूटाथिओन के बारे में, और साथ में जानिए इसके लाभ

त्योहारी सीजन आ चुका है। बाजार हर जगह जगमागा उठे हैं। साथ ही साथ उत्सव और मस्ती के दिन आ चुके हैं। हालांकि साल 2020 कुछ ख़ास नहीं रहा था, लेकिन इस साल आप सावधानी बरतते हुए, त्योहारों का आनंद लें। लेकिन उसी के साथ आपको अपनी त्वचा का भी ख्याल रखना बेहद ज़रूरी है। आज हम आपको कुछ ऐसा बताएंगे जिससे आपकी त्वचा संबंधित रोग दूर होने में मदद मिलेगी।

त्यौहारी सीजन पर दिखना चाहते हैँ खूबसूरत

त्योहारों पर सुंदर दिखना हर कोई चाहता है, त्योहारों के बाद शादियों का अभी सीजन आने वाला है। जिसमें हर कोई सुंदर दिखने की इच्छा रखता है, इसलिए आप अपनी त्वचा को और भी निखारने के लिए अपनी त्वचा को भीतर से पोषण प्रदान करें। वैसे तो बाज़ारों में ऐसी बहुत सी क्रीम और साबुन उपलब्ध हैँ जो दावा करते हैँ कि उनके उत्पाद त्वचा को निखार प्रदान करेंगे, लेकिन ऐसा नहीं होता कुछ समय तक आपको फ़र्क़ दिखेगा लेकिन जब आप उनका इस्तेमाल करना छोड़ देंगे तो आपकी त्वचा पहले जैसी हो जाएगी या यूँ कहें उससे भी ख़राब। इसलिए आज हम आपको बताएंगे ग्लूटाथियोन और विटामिन-सी के बारे में जो कि त्वचा के लिए बहुत हीं बढ़िया मानी जाती है।

ग्लूटाथियोन और विटामिन-सी है त्वचा के लिए बेहद ज़रुरी

त्वचा को अंदर से निखारने के लिए ग्लूटाथियोन और विटामिन-सी से अच्छा और आपको कुछ भी नहीं मिलेगा। अगर आप चाहते हैँ कि आपके त्वचा पर कोई दाग़ धब्बे,झुर्रियां ना हों तो आपको ग्लूटाथियोन अपनाना ही पड़ेगा। अब आप यह सोच में पड़ गए होंगे कि ये ग्लूटाथियोन आखिर है क्या, और हमारी त्वचा पर किस प्रकार काम करता है। तो चलिए हम आज आपको बताएंगे-

 

किस तरह त्वचा को भीतर से निखारेगा ग्लूटाथियोन

ग्लूटाथियोन के एंटी-ऑक्सीडेंट गुण एंटीमेलोजेनिक गुणों के साथ जुड़े हुए हैं। यह आपकी त्वचा कि पिगमेंटेशन को पूरी तरह खत्म कर देता है, साथ ही साथ आपके चेहरे पर झुर्रियों को खत्म कर लचीले पन को बढ़ा देता है। ग्लूटाथियोन मेलानिन के निर्माण में शामिल हुए टायरोसाइनेज नाम के एंजाइम को रोकता है और त्वचा के पिग्मेंटेशन को ख़त्म कर देता है।

सोरायसिस से भी देता है छुटकारा

ग्लूटाथियोन सोरायसिस और त्वचा के कई और भी संक्रमणों के इलाज में बहुत ही असरदार माना जाता है। इसी के साथ-साथ ग्लूटाथियोन पुरानी सूजन में भी उपयोगी साबित होता है। इसलिए त्वचा को फिर से निखारने के लिए इसके फायदों में बढ़ोतरी हो जाती है।

शरीर के माइटोकॉन्ड्रिया को बनाए रखता है स्वस्थ

ग्लूटाथियोन तीन अलग-अलग अमीनो एसिड से बनाया जाता है। इससे कोशिकाओं में वक्त से पहले होने वाले नुकसान को कोई भी हानि नहीं पहुंचती है। साथ ही साथ शरीर के माइटोकॉन्ड्रिया को स्वस्थ बनाता है। इसकी वजह से हमारे शरीर में स्टेमिना भरपूर मात्रा में हो जाता है। ग्लूटाथियोन को पुराने समय से ही त्वचा को भीतर से निखारने के लिए सबसे बढ़िया उत्पाद बताया गया है। इसे लंबे समय से इस्तेमाल किया जाता रहा है।

ग्लूटाथियोन से दूर होंगे त्वचा के काले धब्बे

यह बहुत ही अच्छे तरीके से काम करता है। अपने प्रभावशाली एंटीऑक्सीडेंट के प्रभावों से यह प्रदूषण, तनाव और बुढ़ापे के चलते हो जाने वाले काले धब्बों को साथ ही त्वचा से संबंधित अन्य लोगों को पर भी असरदार माना जाता है। इसी तरह से यह त्वचा को भीतरी रूप से निखारता है। ग्लूटाथियोन स्वास्थ्य के लिए बहुत ही बेहतरीन माना जाता है।

ग्लूटाथियोन में होते हैँ इम्युनिटी मजबूत करने वाले गुण

ग्लूटाथियोन इंसानों की कोशिकाओं में पाया जाने वाला एक एंटीऑक्सीडेंट होता है। यह कुदरती रूप से इंसानों में पाया जाता है। लेकिन आज की शहरी लाइफस्टाइल, धूल, मिट्टी और प्रदूषण के कारण यह कमजोर होने लगता है। जिसके कारण कई तरह की बीमारियां उत्पन्न हो सकती हैं। ग्लूटाथियोन का एक तरीके से काम है कि यह फ्री रेडिकल्स को बेअसर करता है और साथ ही शरीर में से विषैले तत्वों को खत्म कर देता है।

स्वस्थ त्वचा के लिए अपनाना होगा विटामिन सी

विटामिन सी हमारे शरीर के लिए बहुत ही जरूरी विटामिन माना जाता है। इससे इम्युनिटी बढ़ाने में मदद मिलती है। यह एक एंटीऑक्सीडेंट है जो कि फ्री रेडिकल्स को खत्म करता है और साथ में प्रतिरक्षा कोशिकाओं को चुस्ती फुर्ती से बढ़ने की क्षमता प्रदान करता है। यह सूजन को कम करने के साथ-साथ कोशिकाओं के बीच संकेत को बेहतर बनाता है जिससे इम्यून सिस्टम बेहतर बन जाता है। जब हमारा इम्यून सिस्टम बिगड़ जाता है तो विटामिन सी का स्तर तेजी से गिर जाता है, जिसके कारण शरीर में दिक्कत है आना शुरू हो जाती हैं। साथ ही शरीर का रिस्पांस कमजोर हो जाता है।

अच्छी डाइट के साथ लें ग्लूटाथियोन सप्लीमेंट्स

बाजारों में कई तरह के ग्लूटाथियोन सप्लीमेंट्स आपको मिल जाएंगे। अच्छी डाइट के साथ आप इनका सेवन कर सकते हैं। इससे आपका खान-पान के स्तर में भी बढ़ोतरी होगी। फाइलेंथस एंबीलिका नामक यह सप्लीमेंट आमतौर पर गूजबेरी या ‘आंवला’ के रूप में जाना जाता है। इससे इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए, डिटॉक्सिंग, तथा त्वचा को सेहतमंद रखने के लिए भी सहायता मिलती है। आंवला अर्क में प्रकृति का विटामिन सी के गुण मौजूद होते हैं जो कि बेहद असरदार माने जाते हैं।

Kanchan Goyalhttps://factspigeon.com
कंचन गोयल अभी माखनलाल पत्रिकारिता विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी कर रही हैं। इसके अलावा इन्हे निष्पक्ष होकर पत्रिकारिता करना पसंद है। सच्चाई और तथ्यों के आधार पर स्टोरी करने को महत्व देती हैं। इनका मानना है कि पढ़ाई, लिखाई करने से रचनात्मक सोच में उत्पत्ति है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular