Sunday, July 3, 2022
Homeलाइफस्टाइलEye Problem- सर्दियों के समय हीटर का अधिक प्रयोग करने पर आंखों...

Eye Problem- सर्दियों के समय हीटर का अधिक प्रयोग करने पर आंखों में होने लगती है गंभीर समस्या

Eye Problem- सर्दियों के मौसम में शरीर को ठंड से दूर रखने के लिए हम कुछ ऐसे ही उपकरणों का इस्तेमाल करते हैं जैसे कि हीटर और ब्लोवर। लेकिन क्या आप जानते हैं कि शरीर को कृत्रिम गर्मी देने वाले उपकरणों का अधिक उपयोग करने से आपको गंभीर समस्याओं से जूझना पड़ सकता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो हीटर और ब्लोवर से जो गर्म हवा निकलती है उसके सीधे संपर्क में आने पर त्वचा और आंखों(Eye Problem) को हानि हो सकती है। लेकिन कई बार यह है वह आपकी आंखों(Eye Problem) के लिए बहुत ही गंभीर समस्या का कारण बन जाती है।

कृत्रिम गर्मी देने वाले उपकरणों से निकलने वाली जो हवा होती है मैं आपके आसपास की हवा में उपस्थित नमी को कम कर देती है। जिसकी वजह से हवा शुष्क बन जाती है। जिससे आपकी त्वचा के रूखे पर और खुजली जैसी समस्याएं बढ़ जाती हैं। इसी के साथ साथ हीटर या फिर ब्लोवर का अधिक उपयोग किया जाए तो आंखों(Eye Problem) को भी नुकसान पहुंचता है।

यह भी पढ़े :-Amla Powder से सफेद बालों को काला करने में मिलती है सहायता, जानें कैसे

इससे जो गर्म हवा निकलती है, उससे हमारी आंखों की नमी प्रभावित हो जाती है। जिसकी वजह से लोगों को ड्राई आइस जैसी समस्याएं होने लगती हैं। इसीलिए आज हम आपको कृत्रिम गर्मी देने वाले उपकरणों से आंखों(Eye Problem) में होने वाली गंभीर समस्याओं और उसके बचाव के बारे में बताने वाले हैं।

Eye Problem- आंखों में दिख रही है गंभीर समस्या

हीटर का ज्यादा उपयोग करने से ड्राई आइज जैसी समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं। इसी के साथ-साथ इसके लक्षण और भी गंभीर बन जाते हैं। लेकिन विशेष रूप से कार के की दर से निकलने वाली जो हवा वातावरण को शुष्क कर देती है। जिससे आपकी आंखों को गंभीर क्षति पहुंचती है। इसीलिए लोगों को इन उपकरणों से निकलने वाली गर्म हवा को आंखों से दूर रखना चाहिए।

ड्राई आइज की समस्या (Dry eyes problem)

सर्दियों के मौसम में ज्यादातर लोगों में ड्राई आईज की समस्या आने लगती हैं। जिसका एक मुख्य कारण उपकरणों से निकलने वाली गर्म हवा के सीधे संपर्क में आना भी होता है। ड्राई आइज की समस्या तब होने लगती है जब आंख(Eye Problem) या तो पर्याप्त मात्रा में आंसू का उत्पादन नहीं कर पाती है या फिर आंखों को चिकनाई देने के लिए गुणवत्ता वाले आंसू की कमी होने लगती है।इस परिस्थिति में आंखों(Eye Problem) में लालिमा, जलन या फिर खुजली जैसी समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं।

यह भी पढ़े :-मौनी रॉय की तरह आपके ब्राइडल लुक में न रह जाए ये छोटी सी कमी, क्या आपने की नोटिस?

ड्राई आइस जैसी गंभीर समस्याओं से अगर निजात पाना है तो कुछ बातों का बेहद ही ख्याल रखना होगा। अगर बहुत ही ज्यादा ठंडी या फिर गर्म हवाओं के संपर्क में आ रहे हैं तो उससे सुरक्षा के लिए चश्मा पहन कर रखना होगा। पलकों को बार-बार चिपकाते रहना होगा। ऐसा करने पर आंखों में चिकनाई और नमी मौजूद रहेगी। शरीर को हमेशा हाइड्रेटेड रखना होगा। गर्म हवा के सीधे संपर्क में आने से बचना होगा।

Kanchan Goyalhttps://factspigeon.com
कंचन गोयल अभी माखनलाल पत्रिकारिता विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी कर रही हैं। इसके अलावा इन्हे निष्पक्ष होकर पत्रिकारिता करना पसंद है। सच्चाई और तथ्यों के आधार पर स्टोरी करने को महत्व देती हैं। इनका मानना है कि पढ़ाई, लिखाई करने से रचनात्मक सोच में उत्पत्ति है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular