Tuesday, June 28, 2022
Homeलाइफस्टाइलइस तनावपूर्ण जीवन में शारीरिक स्वास्थ्य के साथ मानसिक स्वास्थ्य का भी...

इस तनावपूर्ण जीवन में शारीरिक स्वास्थ्य के साथ मानसिक स्वास्थ्य का भी रखें ख्याल, अपनाएं यह बातें

जिस देश में शारीरिक रूप से स्वस्थ होना ही पूर्ण रूप से स्वस्थ होना माना जाता है,वहां मानसिक स्वास्थ्य पर कौन ही ध्यान देता है। लेकिन ये बात भी उतनी ही महत्वपूर्ण है कि हमें शारीरिक के साथ साथ मानसिक रूप से भी स्वस्थ रहना जरूरी है। एक अध्ययन से यह ज्ञात हुआ है कि 2017 वर्ष में, भारत की 14% आबादी मानसिक स्वस्थ संबंधी बीमारियों से पीड़ित थी, जिसमें 4 करोड़ 50 लाख लोग अवसाद संबंधी विकारों से और 4 करोड़ 90 लाख लोग चिंता संबंधी विकारों से पीडि़त थे।

भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने 2017 में कहा था कि भारत “एक संभावित मानसिक स्वास्थ्य महामारी का सामना कर रहा है”। उपर के आंकड़े 2017 के है पर 2020 में कोरोना महामारी के आने और लॉकडाउन लगने से घर पर बैठे लोगों में ये बीमारी बहुत तेज़ी से बढ़ी है। पर चलिए आज आपको बताते है मानसिक अवसाद से बचने के पांच उपाय।

यह भी पढ़ें-आंवला के फायदे जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान, रोज पिएं दो चम्मच जूस

1.दोस्तों के साथ समय व्यतीत करे

पहला उपाय ये है कि अपने दोस्तों से नियमित तौर पर मिले। उनसे अपने सुख दुख की सारी बातें करे। हम आज के समय फोन पर तो अपने दोस्तों से जुड़े है, पर फोन से अच्छा है कि हम अपने वयस्त समय से कुछ समय निकाल उनसे मिले। दोस्तों के साथ समय बिताने से आपके मानसिक स्वास्थ्य पर एक सकारात्मक प्रभाव होगा।

2. खुद को एक्टिव रखे

फिजिकल एक्टिविटी जैसे व्यायाम,अगर आपका कार्यस्थल नजदीक है तो पैदल चलकर जाना,खेल कूद इत्यादि आपके शरीर में एंडोर्फि‍न्स का स्तर बढ़ाती हैं जो आपके मूड को सुधारकर आपको खुश रखता है। इतना ही नहीं, फिजिकल एक्टिविटी से आप सकारात्मक रहते हैं, तनाव दूर रहता है और नींद भी अच्छी आती है। इसके लिए जिम जाना ज़रूरी नहीं, आपको जो एक्टिविटी पसन्द हो आप उसका सहारा ले सकते है। आप डांस,ज़ुम्बा,योग,व्यायाम, आउटडोर गेम्स जैसे कोई भी विकल्प अपना सकते हैं।

3. हर दिन एक गोल तय करें

आपके पास अपने पसंद की नौकरी है,अच्छी इनकम है,परिवार और दोस्त है आप जीवन से पूरी तरह संतुष्ट है पर इसका ये मतलब नहीं कि आपका गोल नहीं हो सकता। तीसरा उपाय यही है कि प्रत्येक मनुष्य चाहे वो संतुष्ट हो या नहीं, वो प्रत्येक दिन अपने लिए छोटे छोटे गोल अवश्य रखे। ऐसे गोल रखने और उसे प्रतिदिन पूरा करने से आपको हर दिन एक अचीवमेंट सा महसूस होगा और निराशा और अवसाद आपसे दूर रहेगी।

यह भी पढ़ें-मानसिक रूप से मजबूत कैसे बने | mentally strong kaise bane

4. नींद को दे प्राथमिकता

8 घंटे कि अच्छी नींद आपको बहुत सी बीमारियों से दूर रख सकती है,जिसमे से मानसिक बीमारी भी एक है। मनुष्य स्वस्थ तब ही है जब उसे अच्छी नींद आती हो इसलिए हर दिन आपको 8 घंटे की नींद पूरी करनी चाहिए। अगर आपको अच्छी नींद नहीं आती तो अपने जीवनशैली में पौष्टिक खाना और व्यायाम को शामिल करे। सोने से करीब आधे घंटे पहले मोबाइल,लैपटॉप या टीवी से दूरी बनाए और किताब पढ़े इससे आपको अच्छी नींद आएगी।

5. खुद के प्रति संवेदनशील बनें

कई बार जीवन में ऐसा होता है कि किसी घटना का दोष आप खुद को देते है। आपको अपने आप से नाराज़ होने या दोष देने की कोई जरुरत नहीं है। खुद से प्यार करना सीखे,खुद को इज्जत दे। इसे self care कहते है,सेल्फ़ केअर का मतलब छुट्टी पर जाना या दोस्तों के साथ समय बिताना ही नहीं होता।

अपने लिए समय निकालना भी सेल्फ केअर का हिस्सा है। प्रत्येक दिन करीब 15 से 20 मिनट अपने लिए निकालें जिसमे आप अपने पसंद का काम करे,अपने बारे में कुछ सोचे ओर खुद के साथ समय व्यतीत करे। इससे आपको खुद को समझने में मदद मिलेगी और आप मानसिक रूप से स्वस्थ भी रहेंगे।

Kanchan Goyalhttps://factspigeon.com
कंचन गोयल अभी माखनलाल पत्रिकारिता विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी कर रही हैं। इसके अलावा इन्हे निष्पक्ष होकर पत्रिकारिता करना पसंद है। सच्चाई और तथ्यों के आधार पर स्टोरी करने को महत्व देती हैं। इनका मानना है कि पढ़ाई, लिखाई करने से रचनात्मक सोच में उत्पत्ति है।
RELATED ARTICLES

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular