Tuesday, May 24, 2022
Homeलाइफस्टाइलSleeping Tips: अलग-अलग दिशाओं में सिर करके सोने से स्वास्थ्य पर क्या...

Sleeping Tips: अलग-अलग दिशाओं में सिर करके सोने से स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ता है? जानिए किस तरीके से सोना है सबसे ज्यादा फायदेमंद

Sleeping Tips: हमारी जीवनशैली, खान-पान और नींद की गुणवत्ता का संपूर्ण शरीर के स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ता है। अध्ययनों में रात में अच्छी नींद लेने पर विशेष जोर दिया जाता है। शोध बताते हैं कि जिन लोगों की नींद पूरी नहीं हो पाती है, उनमें तनाव, चिंता, अवसाद सहित कई तरह की मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं का जोखिम अधिक हो सकता है। इसका शारीरिक स्वास्थ्य पर भी असर होता है। नींद पूरी न कर पाने वाले लोगों में हृदय रोग और मधुमेह का जोखिम अन्य लोगों की तुलना में अधिक होता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक सभी लोगों को रात में कम से कम 6-8 घंटे की अच्छी नींद जरूर लेनी चाहिए। पर क्या आप जानते हैं कि सोने का तरीका भी आपकी सेहत को प्रभावित करता है?

आप किस तरह से बेड पर सोते हैं, इसका भी शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर प्रभाव होता है। आयुर्वेद में इस बात का भी जिक्र मिलता है कि अलग-अलग दिशाओं में सिर करके सोने से भी सेहत पर क्या असर हो सकता है? आइए इस बारे में विस्तार से जानते हैं, साथ ही जानते हैं कि किस दिशा में सिर करके सोने को विशेषज्ञ अधिक फायदेमंद मानते हैं?

पूर्व दिशा में सिर करके सोना

आयुर्वेद शास्त्र में किस तरफ सिर करके सोने से क्या लाभ होता है, इसका जिक्र मिलता है। आयुर्वेद सिद्धांत के अनुसार पूर्व दिशा में सिर करके सोना कुछ स्थितियों में आपके लिए लाभदायक हो सकता है। यदि आप मन को शांत करने, याददाश्त को बढ़ावा देने, रक्त संचरण को ठीक रखना चाहते हैं तो इस दिशा में सिर करके सोने से आपको लाभ मिल सकता है।

पश्चिम दिशा में सिर करके सोना

आयुर्वेद विशेषज्ञों के मुताबिक पश्चिम दिशा में सिर करके सोने को वास्तु के हिसाब से सही नहीं माना जाता है। यह आपकी नींद को बाधित कर सकता है। इस दिशा में सिर करने से नींद से संबंधित विकारों का जोखिम होता है जोकि अच्छी नींद के लिए  उपयुक्त नहीं माना जाता है। आरामदायक नींद के लिए विशेषज्ञ इस दिशा को उपयुक्त नहीं मानते हैं।

उत्तर दिशा में सिर करके सोना

उत्तर दिशा में सिर करके सोने को प्राय: उचित नहीं माना जाता है। उत्तर दिशा में सिर करके सोने से विद्युत चुंबकीय शक्ति के कारण अच्छी नींद नहीं मिल पाती है। उत्तर में सिर होने से धनात्मक आवेश होता है, जिससे नींद बाधित हो सकती है। आयुर्वेदिक रूप से इस दिशा में सिर करके सोने से रक्त परिसंचरण प्रभावित होने, तनाव और मन की अशांति जैसी समस्याएं हो सकती है।

दक्षिण दिशा में सिर करके सोना

विशेषज्ञों का मानना है कि दक्षिण दिशा में भी सिर करके सोना फायदेमंद हो सकता है। दक्षिण की ओर सिर करके सोने से रक्तचाप नियंत्रित रहता है साथ ही नींद की गुणवत्ता में सुधार होता है। कुछ शोध और वास्तु शास्त्र के अनुसार, पृथ्वी के विद्युत चुम्बकीय क्षेत्र के कारण इस दिशा में सिर करके सोने के लाभ होते हैं। विशेषज्ञ कहते हैं, सभी लोगों को अच्छी गुणवत्ता वाली नींद प्राप्त करने की कोशिश करनी चाहिए, यह मानसिक-शारीरिक स्वास्थ्य के लिए बहुत आवश्यक है।

FactsPigeonhttps://factspigeon.com/
फैक्ट्स पिजन में आपको सबसे पहले खबरें मिलेंगी। आप हमारी वेबसाइट पर मनोरंजन, देश-दुनिया की खबरें, टेक्नोलॉजी, खेल, शिक्षा आदि खबरें पढ़ने को मिलेंगी।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular