Home लाइफस्टाइल देर रात तक फोन चलाना पड़ सकता है भारी, दिमाग पर होता...

देर रात तक फोन चलाना पड़ सकता है भारी, दिमाग पर होता है गहरा असर

0
174
Late Night Mobile Use

अगर आपको भी देर रात तक फोन चलाने की आदत पड़ चुकी है तो इसे आपको तुरंत बदल देना होगा। रात को लंबे समय तक फोन चलाने की आदत आपको बीमार कर देगी।

इससे आपकी आंखों पर तो प्रभाव पड़ेगा ही लेकिन साथ ही साथ मेंटल हेल्थ के लिए भी यह नुकसानदायक हो सकता है। इसीलिए आज हम जाने वाले हैं कि सोते वक्त मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने पर कौन-कौन से गंभीर नुकसान हो सकते हैं।

Late Night Mobile Use- स्ट्रेस और थकान में वृद्धि का बन सकता है कारण

देर रात तक मोबाइल का उपयोग करने पर मानसिक स्वास्थ्य पर असर पड़ता है। इससे आपको थकान और तनाव भी महसूस होने लगता है। रात को लंबे वक्त तक मोबाइल चलाने पर मेलाटोनिन नामक हार्मोन लेवल कम होने लग जाता है। इस कारण से स्ट्रेस लेवल बढ़ जाता है और आप थकान महसूस करते हैं।

यह भी पढ़े :-Fennel- सौंफ के इस्तेमाल से 32 से 28 की हो जाएगी कमर, जानिए क्या है नुस्खा

डार्क सर्कल की होने लगती है समस्याएं

देर रात तक फोन चलाने पर आपकी त्वचा पर भी असर पड़ने लगता है। अगर आप रात को लंबे वक्त तक फोन का इस्तेमाल(Late Night Mobile Use) करते हैं तो इससे आपकी आंखों के नीचे डार्क सर्कल की समस्याएं होने लगती है।

ब्रेन हेल्थ के लिए होता है घातक

देर रात तक फोन का इस्तेमाल(Late Night Mobile Use) करने पर दिमाग पर गहरा असर पड़ जाता है। लंबे समय तक फोन चलाने पर मेमोरी कमजोर होने लगती है। इससे कई तरह की समस्याओं का खतरा भी बढ़ने लगता है। ऐसा इसीलिए क्योंकि इस आदत से आपका दिमाग कमजोर होने लग जाता है।

नींद ना आने की होने लगती है समस्याएं

देर रात तक फोन का इस्तेमाल(Late Night Mobile Use) करने पर आपको अनिद्रा की समस्याएं भी होने लगती हैं। रात को सोने से पहले मोबाइल इस्तेमाल करने पर मेलाटोनिन हार्मोन का लेवल कम होने लग जाता है। इससे आपको नींद ना आने की समस्याएं होने लग जाती हैं।

यह भी पढ़े :-क्या आपको पता है नंगे पैर टहलने के ये फायदे? जानें, कैसे हील करती हैं ‘धरती मां’

आंखों में होने लगती है समस्याएं

अधिक समय या फिर देर रात तक फोन चलाने(Late Night Mobile Use) पर आंखों से जुड़ी समस्याएं भी होने लगती हैं। इससे रेटिना पर भी असर पड़ने लगता है और आंखों की रोशनी कमजोर होने लगती है। देर रात तक मोबाइल चलाने पर ग्लूकोमा का खतरा भी बढ़ने लगता है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here