Tuesday, June 28, 2022
Homeलाइफस्टाइलजानिए सर्दियों में ड्राईफ्रूट्स को भिगोकर खाने के फायदे

जानिए सर्दियों में ड्राईफ्रूट्स को भिगोकर खाने के फायदे

सर्दियां लगभग आ ही चुकी हैं। सर्दियों में ड्राईफ्रूट्स का ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि वह हमारी सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होती हैं। सर्दियों के मौसम में वायरल फीवर और सर्दी जुखाम जैसी बीमारियों का डर हमेशा सताता रहता है। इसलिए ड्राई फ्रूट से हमारा इम्यून सिस्टम मजबूत बनता है। इसी के साथ साथ यह सभी परेशानियों से लड़ने में सहायता करता है।

अगर हम ड्राई फ्रूट खाते हैं तो हमारा शरीर गर्म रहता है, जिससे सर्दियों में सेहत से जुड़ी परेशानियां नहीं आती हैं। ड्राई फ्रूट को सूखा मेवा के नाम से भी जाना जाता है। पहले दादी नानीयों के समय की माने तो ठंड के दिनों में हमें एक मुट्ठी मेवा अवश्य खाना चाहिए। बहुत से लोग सर्दियों के दिनों में अखरोट का सेवन अधिकतर करते हैं, क्योंकि अखरोट काफी गर्म माना जाता है।

बहुत से लोग सर्दियों में सूखा मेवा खाना पसंद करते हैं। माना तो यह भी जाता है कि अगर हम पानी में भिगोकर सूखे मेवे को खाए तो इसका फायदा 2 गुना बढ़ जाता है। तो चलिए जान लेते हैं कि अगर हम बादाम, अखरोट और अंजीर को पानी में भिगोकर खाते हैं तो यह किस तरह से हमारी सेहत के लिए फायदेमंद रहेगा।

भिगोई हुई अंजीर को खाने के फायदे

 

जिंक, मैंगनीज, मैग्नीशियम, आयरन जैसे मिनरल पोषक तत्व अंजीर में पाए जाते हैं। साथ ही साथ अंजीर हार्मोनल असंतुलन और पोस्ट मेनोपॉज के बाद होने वाली समस्याओं से राहत पहुंचाता है। अंजीर में एंटीऑक्सीडेंट और फाइबर जैसे गुण पाए जाते हैं। साथ ही साथ ही यह ब्लड ग्लूकोस लेवल को कंट्रोल करने में सहायता करता है।

अगर हम भीगी हुई अंजीर खाते हैं तो हमें टाइप-2 डायबिटीज का खतरा कम हो जाता है। साथ ही साथ कोई महिला अगर पीएमएस की समस्या से जूझ रही है तो उसे अंजीर खाने की सलाह दी जाती है। अंजीर में उच्च मात्रा में पोटेशियम पाया जाता है। जो कि शरीर में शुगर के स्तर का नियंत्रण करने में मदद करता है। अंजीर में क्लोरोजेनिक एसिड होता है जो कि शुगर लेवल को कम करने में सहायता करता है।

भिगोये हुए बादाम को खाने के फायदे

आपने कई बार सुना होगा कि बादाम को कच्चा नहीं खाना चाहिए, तो ऐसा इसलिए है क्योंकि कच्चा बादाम इतना फायदेमंद नहीं होता है जितना भिगोकर खाने से वह फायदा देता है। अगर हम बादाम को भिगोकर खाते हैं तो हमारा वजन कम और कंट्रोल होने में मदद मिलती है। बादाम में मोनोअनसैचुरेटिड फैट का स्तर काफी हाई होता है, जिससे हार्ट अटैक का खतरा कम हो जाता है। दूसरे मेवाओं के मुकाबले बादाम में ज्यादा फाइबर की मात्रा पाई जाती है। बादाम में विटामिन ई भरपूर मात्रा में होती है।

अगर आपका वजन बढ़ता जा रहा है तो यह आपके बढ़ते वजन को कंट्रोल कर देता है। बादाम में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट हमारी त्वचा के लिए बेहद ही लाभकारी माने जाते हैं। अगर हम बादाम को भिगोकर खाते हैं तो हमारी त्वचा का ग्लो बढ़ता जाता है। बादाम में प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा भरपूर होती है, जिससे हमारा पेट लंबे समय तक भरा रहता है और हमें बार-बार भूख नहीं लगती है। हमें बादाम को कभी भी बिना छिले नहीं खाना चाहिए, इससे हमें बादाम का पूरा पोषण नहीं मिल पाता है।

भीगे हुए अखरोट खाने के फायदे

अखरोट में फाइबर, हेल्थी फैट, विटामिंस और मिनरल्स पाए जाते हैं, जो कि हमारी बॉडी के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। अखरोट ब्लड शुगर और डायबिटीज से भी बचाव करने में सहायता करता है। अखरोट में एंटी ऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जिससे हमारी कोशिकाओं को नुकसान, हार्ट संबंधित बीमारियां,कैंसर, जल्दी बुढ़ापा आ जाना जैसी बीमारियों से बचाव करने में सहायता करता है।

अखरोट को विटामिंस का राजा भी कहा जाता है। अखरोट हमारे ब्रेन हेल्थ और मेमोरी के लिए तो फायदेमंद है ही लेकिन हमारी पूरी हेल्थ के लिए भी बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। अखरोट खाने से हमारे शरीर की हड्डियां मजबूत बनती है और तनाव भी दूर हो जाता है। अगर आपको कब्ज़ की समस्या है तो अखरोट इससे निजात दिला सकता है। अखरोट को हमेशा पानी में भिगोकर ही खाना चाहिए जिससे आपको उसके आश्चर्यजनक परिणाम मिलेंगे।

Kanchan Goyalhttps://factspigeon.com
कंचन गोयल अभी माखनलाल पत्रिकारिता विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी कर रही हैं। इसके अलावा इन्हे निष्पक्ष होकर पत्रिकारिता करना पसंद है। सच्चाई और तथ्यों के आधार पर स्टोरी करने को महत्व देती हैं। इनका मानना है कि पढ़ाई, लिखाई करने से रचनात्मक सोच में उत्पत्ति है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular