Indian Farmers: किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी बस देना होगा इन बातों पे ध्यान

Spread the love

Indian Farmers: आपको बता दें कि भारत अपनी घरेलू खाद्य तेल जरूरतों के लगभग 60 प्रतिशत हिस्से का आयात करता है , और अब आवश्यकता पर भी जोर दिया जा रहा है और कृषि अनुसंधान संस्थानों से ड्रोन के उपयोग के लिए जल्द से जल्द एक प्रोटोकॉल विकसित करने का आह्वान किया गया है।

किसानों की आय में होगी वृद्धि

एक बयान के मुताबिक , एक परिचर्चा में सिंह ने कहा है कि किसानों को गेहूं और चावलपर ध्यान केंद्रित करने की बजाय फसल विविधीकरण को बड़े पैमाने पर बढ़ावा देना चाहिए। साथ ही साथ अंग्रेजी के तीन ‘एम’ अक्षर से शुरू होने वाले- मक्का, मूंग और सरसों (मस्टर्ड) की खेती को भी बढ़ावा देना चाहिए।

Indian Farmers- आकस्मिक योजनाओं की है सख्त जरूरत

सिंह ने ये भी कहा है कि “हमें विभिन्न फसलों के लिए पहले से एक आकस्मिक योजना की भी आवश्यकता है ताकि किसान इसे अपना सकें।” आपको बता दें कि इस परामर्श बैठक में कुल 33 कृषि विद्यालय केंद्रों केवी के कई प्रसिद्ध कृषि वैज्ञानिकों के साथ-साथ आईसीएआर के वैज्ञानिकों ने भी भाग लिया।साथ ही साथ इसमें नीति निर्माताओं उद्योग जगत की प्रमुख कंपनियों और किसानों की भागीदारी भी देखी गई।

कितना है भारत का आयात ?

भारत अपनी घरेलू खाद्य तेल जरूरतों के लगभग 60 प्रतिशत हिस्से का आयात करता है। वहीं दालें भी बहुत कम मात्रा में आयात की जाती हैं।इसीलिए सिंह नेआधुनिक तकनीक को अपनाने की आवश्यकता पर भी जोर दिया और कृषि अनुसंधान संस्थानों से ड्रोन के उपयोग के लिए जल्द से जल्द एक प्रोटोकॉल विकसित करने का आह्वान किया है।ताकि भारत का आयात बढ़ाया जा सके और देश के कृषि समाज की तरक्की हो सके।

यह भी पढ़े:-LPG Gas पर मिली राहत, जानें कितनी घटी कीमत

Leave a Comment