यहाँ देखें Car Finance स्कीम, अगर सस्ते में खरीदना चाहते हैं कार

Spread the love

Car Finance: देश में इन दिनों नई बेहतरीन और हाई-एंड फीचर्स वाली कारों के लॉन्चिंग का सिलसिला लगातार चल रहा है और आगामी त्योहारी सीजन में बहुत से लोग नई कार लेने का प्लान भी बना रहे हैं। लेकिन ज्यादातर लोग कार को खरीदने के लिए Car Finance का विकल्प चुनते हैं, और यदि आप भी ऐसा ही करते हैं और कार लेना चाहते हैं तो पहले जान लीजिए कि आपको किस बैंक से लोन लेना अच्छा और किफायती रहेगा। इसलिए हम आपको कुछ बैंकों के ब्याज दरों के बारे में यहाँ बताने जा रहे हैं।

ये है बैंक और उनके Car Finance ब्याज दरों की लिस्ट

State Bank of India- ब्याज दर 7.20% से शुरू
Canara Bank- ब्याज दर 7.30% से शुरू
HDFC Bank- ब्याज दर 7.95% से शुरू
IDBI Bank- ब्याज दर 7.35% से शुरू
Punjab National Bank- ब्याज दर 6.65% से शुरू
Union Bank of India- ब्याज दर 7.40% से शुरू

10 से 15% करना होता है पर डाउन पेमेंट

जब आप एक कार का चुनाव करते हैं, तब उसके बाद Car Finance की प्रक्रिया शुरु हो जाती है। बैंक फाइनेंसिंग के जरिए लोन लेते समय आपको डाउन पेमेंट के रूप में करीब 10-15% राशि पेमेंट करनी पड़ती है और बाकी की धनराशि को बैंक Car Finance कर देती है।

नहीं देनी होगी सिक्योरिटी

कम बजट के कारण अधिकतर लोग लोन पर कार लेना ज्यादा पसंद करते हैं, क्योंकि इसमें एक साथ पूरी राशि नहीं देनी पड़ती और ब्याज दर भी बहुत अधिक नहीं होती है। इस लोन का लाभ कम क्रेडिट स्कोर वाला व्यक्ति भी आसानी से उठा सकता है। यह एक सुरक्षित लोन माना जाता है क्योंकि इसमें गाड़ी अपने आप ही सिक्योरिटी के रूप में रहती है। इस लोन को लेने के लिए कोई अन्य सिक्योरिटी देने की भी आवश्यकता नहीं होती।

ये है अधिक ब्याज का कारण

कार लोन लेने पर आपकी कार बैंक में गिरवी के तौर पर होती है। आपका बैंक सभी भुगतानों के पूर्ण होने के बाद ही आपकी कार का पूरा मालिकाना हक प्रदान करता है। कार लोन की रकम राशि जितनी ज्यादा होती है, आपको EMI भी उतनी ही ज्यादा देनी पड़ती है और यदि आप लोन को कम समय अवधि के लिए लेते हैं, तो भी आपको ईएमआई ज्यादा देनी पड़ेगी। यदि आप लंबे समय के लिए लोन लेते हैं तो आपकी ईएमआई तो कम हो जाएगी, लेकिन आपको ब्याज की राशि अधिक चुकानी पड़ेगी.

यह भी पढ़ें : लोकल मैकेनिक के पास Car Servicing कराते समय रखें इन बातो का ध्यान

यह भी पढ़ें :  नितिन गडकरी का दावा- 2024 तक सड़क हादसों की संख्‍या हो जाएगी आधी

Leave a Comment