Wednesday, June 29, 2022
Homeधर्म-ज्योतिषVastu Shastra- हर शुभ कार्य और पूजा में फोड़ा जाता है नारियल,...

Vastu Shastra- हर शुभ कार्य और पूजा में फोड़ा जाता है नारियल, मगर महिलाओं द्वारा नहीं किया जाता यह कार्य, जानिए ऐसा क्यों

Vastu Shastra- हिंदू धर्म में पूजा पाठ और सभी मांगलिक कार्यों(Vastu Shastra) में नारियल फोड़ने का बहुत ही बड़ा महत्व माना जाता है। लेकिन हर अच्छे काम(Vastu Shastra) का श्री गणेश नारियल फोड़कर ही होता है। इसी के साथ साथ नारियल को श्रीफल का दर्जा भी दिया जाता है। और भगवानों को अर्पित किया जाता है। कहा जाता है कि हिंदू धर्म में बिना नारियल की पूजा अधूरी रह जाती है। नारियल के इतने महत्वपूर्ण होने का एक विशेष कारण है।

यह भी पढ़े :-Rashifal 1 February 2022: इस मंगलवार को कोई कार्य करने से पहले पढ़ लें अपना राशिफल, जानिए क्या कहता है आपका भाग्य

Vastu Shastra- नारियल में होता है त्रिदेवों का वास

नारियल में ब्रह्मा, विष्णु और महेश यानी कि शिवजी तीनों त्रिदेव का वास माना जाता है। मान्यता के अनुसार हर कार्य से पहले नारियल फोड़ने(Vastu Shastra) से काम में कोई भी विघ्न उत्पन्न नहीं होता है। इसी के साथ साथ काम में सफलता भी प्राप्त होती है।पौराणिक कथाओं के अनुसार जब भगवान विष्णु धरती पर अवतरित हुए थे तब वह मानव जाति के उत्थान के लिए अपने साथ माता लक्ष्मी, नारियल का पेड़ और कामधेनु गाय लेकर अवतार लिए थे। इसी के साथ साथ मानव और जानवरों की बलि देने की परंपरा को खत्म करने के लिए भी नारियल फोड़ने की परंपरा को बढ़ाया गया था।

धन संबंधी समस्याएं हो जाती हैं दूर

नारियल को भगवान के चरणों में अर्पित करने का अर्थ होता है कि हम खुद को भगवान के चरणों में समर्पित कर रहे हैं। इसी के साथ साथ नारियल अर्पित करने से पैसे संबंधित सभी समस्याएं खत्म(Vastu Shastra) हो जाती हैं और खूब सुख समृद्धि आने लगती है।

यह भी पढ़े :-Magh Amavasya 2022: आज मौनी अमावस्या के दिन बन रहे ये शुभ संयोग, जानिए शुभ मुहूर्त, महत्व और व्रत नियम

महिलाओं को है नारियल फोड़ना वर्जित

नारियल को बीज के रूप में बताया गया है यानी कि प्रजनन का कारक नारियल को बताया गया है। वहीं महिलाएं भी बच्चों को जन्म देती है इसी कारण से उनके लिए नारियल को फोड़ना(Vastu Shastra) अशुभ बताया गया है।

Kanchan Goyalhttps://factspigeon.com
कंचन गोयल अभी माखनलाल पत्रिकारिता विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी कर रही हैं। इसके अलावा इन्हे निष्पक्ष होकर पत्रिकारिता करना पसंद है। सच्चाई और तथ्यों के आधार पर स्टोरी करने को महत्व देती हैं। इनका मानना है कि पढ़ाई, लिखाई करने से रचनात्मक सोच में उत्पत्ति है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular